पवित्रता या अपवित्रता अपने आप पर निर्भर करती है, कोई भी दूसरे को पवित्र नहीं कर सकता.

0
26
गौतम बुद्ध कोट्स 39
गौतम बुद्ध कोट्स 39

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here